Sunday, January 24, 2016

लेखक से बड़ा होता किरदार

अगाथा क्रिस्टी 
हरक्यूल पाईरो,शरलक होम्स,जेम्स बांड और हैरी पॉटर में क्या कोई समानता है?बिलकुल समानता है.ये सभी अगाथा क्रिस्टी,ऑर्थर कानन डायल,इयान फ्लेमिंग और जे.के.रोलिंग द्वारा गढ़े गए वे किरदार हैं जो अपार लोकप्रियता प्राप्त कर लोकप्रियता में इसके सृजक से भी आगे निकल गए हैं.
क्या कभी इन लेखकों ने कल्पना की होगी कि ये किरदार सर्वकालिक महान किरदार बन जाएंगे? 


आर्थर कानन डायल
अगाथा क्रिस्टी के मर्डर मिस्ट्री पर आधारित उपन्यास दुनियां के सभी भाषाओँ में अनुवादित हुए हैं और आज भी पाठकों में उत्सुकता जगाते हैं.शरलक होम्स ने अपराध की गुत्थी को सुलझाने के नए-नए आयाम बनाये. दुनियां भर के विभिन्न टी.वी चैनलों पर आज भी शरलक होम्स के धारावाहिक चल रहे हैं.


इयान फ्लेमिंग 
इयान फ्लेमिंग द्वारा सृजित जेम्स बांड का किरदार इस कदर लोकप्रिय हो गया है कि भारत सहित विभिन देशों ने इसके अवतार सृजित कर लिए.पिछले महीने दुनियां भर रिलीजजेम्स बांड सीरीज की फिल्म स्पेक्टर ने साबित किया कि आज भी बांड का किरदार उतना ही लोकप्रिय है,जितना पहले था..हॉलीवुड में बनी फंतासी फिल्मों का अलग ही क्रेज रहता है.जेम्स बांड के किरदार निभाने के कारण कई अभिनेताओं ने असीमलोकप्रियता प्राप्त की.रॉजर मूर,सीन कोनरी,टिमोथी डाल्टन,पियर्स ब्रासनन, डेनियल क्रेग जैसे अभिनेताओं के कारण जेम्स बांड सीरिज ने कई कीर्तिमान स्थापित किए.
जे.के.रॉलिंग
जे. के. रोलिंग द्वारा सृजित हैरी पॉटर सीरीज की किताबों के साथ इस पर बनी फ़िल्में भी उतनी ही लोकप्रिय हुईं.हैरी पॉटर का किरदार न केवल बच्चों बल्कि सभी आयु वर्गों में सराहा गया. हालांकि इस सीरीज की अंतिम किताब ‘हैरी पॉटर और मौत के तोहफे’(Harry Potter and the deathly halllows) रॉलिंग ने कई साल पहले लिखी और इस पर अंतिम फिल्म दो भागों में कई साल पहले रिलीज हुई लेकिन आज भी इसके किरदार की लोकप्रियता का आलम यह है कि कुछ महीने पहले इस सीरीज की फिल्मों में हर्माइनी ग्रेंजर का किरदार निभाने वाली ब्रिटिश अभिनेत्री एम्मा वाटसन ने जब अपना 34वां जन्मदिन मनाया तो जे.के. रॉलिंग समेत तमाम प्रशंसकों ने उसके किरदार हर्माइनी के नाम से ही शुभकामना संदेश भेजे.

हाल ही में हैरी पॉटर सीरीज की फिल्मों में सीवियरस स्नेप का किरदार निभाने वाले ब्रिटिश अभिनेता एलन रिकमैन का कैंसर से निधन हुआ तो रॉलिंग समेत तमाम प्रशंसकों ने उनकी अदाकारी को शिद्दत से याद किया.गौरतलब है कि लोगों के जेहन में स्नेप का किरदार ही था जिसने उन्हें लोकप्रिय बनाया.

कई लेखकों,रचनाकारों के पात्रों को इस कदर लोकप्रियता मिली है कि लगता है कि वे इसके सृजक से भी ज्यादा चर्चित हो गए हैं.

32 comments:

  1. उम्दा आलेख।
    शायद सभी को ये ज्ञात ना हो कि एक दौर में सर आर्थर कानन डायल ने शर्लाक की अति लोकप्रियता से तंग आकर उसे एक कहानी में मरा हुआ दिखा दिया था मगर उन्हें शरलॉक के प्रशंसकों ने इतने पत्र लिखे की उन्हें ऊंचाई से गिर कर मर चुके शर्लाक होल्म्स को वापस ज़िंदा करके दिखाना पड़ा।

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत अच्छी जानकारी साझा करने के लिए आभार.

      Delete
  2. भारतीय सन्दर्भ में भी बाबू देवकीनंदन खत्री का उपन्यास चंद्रकांता सीरीज इतना लोकप्रिय हुआ कि गैर हिंदी भाषी लोगों ने भी इसको पढने के लिये हिंदी सीखी. प्रेमचंद का होरी हर गाँव में मिलने लगा. एक सार्थक लेख.

    ReplyDelete
  3. किरदार निभाने वाले उस किरदार को सामने लाते हैं जो हमने थोड़ा बहुत सुने है या न सुने है ,,,, तभी वह जीवंत होता है ...बढ़िया प्रस्तुति

    ReplyDelete
  4. आपकी लिखी रचना, "पांच लिंकों का आनन्द में" सोमवार 25 जनवरी 2016 को लिंक की जाएगी............... http://halchalwith5links.blogspot.in पर आप भी आइएगा ....धन्यवाद!

    ReplyDelete
  5. ek lekhak ki yahi khubi hai ke uske kirdaar usse bhi bade ban jayein

    ReplyDelete
  6. जिवंत किरदार रचना बहुत बड़ी बात है। ऐसे लेखको को नमन।

    ReplyDelete
  7. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (25-01-2016) को "मैं क्यों कवि बन बैठा" (चर्चा अंक-2232) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  8. जब किरदार, सृजन करने वालों से अभी अधिक लोकप्रिय हो जाये! तो ये तो एक ऐतेहासिक लेखन का उदहारण है। सादर।।

    नेताजी से जुड़ी 100 सीक्रेट फाइलों को भारत सरकार ने सार्वजनिक किया

    ReplyDelete
  9. लेखक शायद किसी किरदार को ही जीता है जिसे आपने बखूबी बताया है

    ReplyDelete
  10. अच्छी विवेचना की है आपने .....

    ReplyDelete
  11. रोचक आलेख। गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete
  12. बहुत अच्छा लेख ।

    ReplyDelete
  13. ऐसा अक्‍सर देखने में आता है कि सृजित किरदार, लेखक का ही स्‍थान ले लेते हैं। ऐसे में लेखक उन्‍हीं किरदारों के नाम से भी जाना जाता है।

    ReplyDelete
  14. bahot sunder vichar...............!!!!!

    ReplyDelete
  15. और शायद यही बात लेखक की सफलता का परिचय भी देती है

    ReplyDelete
  16. सार्थक व प्रशंसनीय रचना...
    मेरे ब्लॉग की नई पोस्ट पर आपका स्वागत है।

    ReplyDelete
  17. 💥💥"नवीनतम करेंट अफेयर्स और नौकरी अपडेट के लिए इस ब्लॉग पर विजिट करते रहें।"💥💥

    Ishwarkag.blogspot.com

    ReplyDelete
  18. Part time home based job, without investment "NO REGISTERTION FEES " Earn daily 400-500 by working 2 hour per day For all male and female more information write "JOIN" And Whatsapp us on this no. 9855933410

    ReplyDelete
  19. अगर आप ऑनलाइन काम करके पैसे कमाना चाहते हो तो हमसे सम्‍पर्क करें हमारा मोबाइल नम्‍बर है +918017025376 ब्‍लॉगर्स कमाऐं एक महीनें में 1 लाख से ज्‍यादा or whatsap no.8017025376 write. ,, NAME'' send ..

    ReplyDelete
  20. बढ़िया जानकारी राजीव जी !!

    ReplyDelete
  21. लेखक शायद किसी किरदार को ही जीता है बढ़िया जानकारी राजीव जी !

    बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति :)
    बहुत दिनों बाद आना हुआ ब्लॉग पर प्रणाम स्वीकार करें

    ReplyDelete
  22. वक़्त मिले तो हमारे ब्लॉग पर भी आयें|
    http://sanjaybhaskar.blogspot.in

    ReplyDelete